Thursday, February 22Unit of Monark Industries Ltd

Balod: डौंडी ब्लॉक में शिक्षा व्यवस्था पूरी तरह से चरमराई, शिक्षकों के शराब पीकर शाला आने की शिकायत

बालोद जिले के डौंडी ब्लॉक में शिक्षा व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा सी गई है। आए दिन शिक्षकों के शराब पीकर शाला आने, बिना बताए स्कूलों से गायब रहने, छात्र छात्राओं से काम करवाने जैसे कृत्य आम हो गए है। इसी कड़ी में मंगलवार को डौंडी ब्लॉक के ग्राम जुनवानी में ग्रामीणों ने शासकीय प्राथमिक शाला में प्रधानपाठक फूलचंद भंडारी के मदिरापान कर स्कूल आने, बिना किसी सूचना के अनुपस्थित रहना एवं कभी भी शाला से चले जाने जैसे मुद्दों को लेकर तालाबंदी कर स्कूल के गेट सामने धरना प्रदर्शन करने लगे।

तालाबंदी की खबर लगते ही मंडल महामंत्री टिकेंद्र साहू पहुंचे जुनवानी

स्कूल में तालाबंदी की खबर भाजपा मंडल डौंडी के महामंत्री टिकेंद्र साहू को प्राप्त होने पर वे ग्राम जुनवानी पहुंचे और ग्रामीणों से चर्चा पश्चात शिक्षा विभाग के अधिकारियों को इस संबंध में जानकारी दी, जिसपर बीईओ जेएस भारद्वाज तत्काल शाला पहुंचे और ग्रामीणों की समस्याओं को गंभीरता से सुना तथा आश्वस्त किया कि तत्काल प्रभाव से एक शिक्षक की पदस्थापना की जाएगी और प्रधानपाठक को स्पष्टीकरण जारी कर नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी, जिसके बाद ग्रामीणजन शांत हुए और शाला का ताला खोला गया।

प्रधानपाठक द्वारा बच्चों को मांसाहारी शब्द को मंशाहारी लिखकर पढ़ाया जा रहा है

प्राथमिक शाला जुनवानी के बोर्ड पर बच्चों को शिक्षा देने हेतु चार चार जानवरों के नाम लिखने हेतु कालम बनाए गए थे, जिसमे शाकाहारी, मांसाहारी, परजीवी और सर्वाहारी का उल्लेख किया गया था, जिसमे से एक कालम में इस स्कूल के महान और शराबी प्रधानपाठक फूलचंद भंडारी ने मांसाहारी को मंशाहारी लिखा हुआ था, अब इसी बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि ब्लॉक के स्कूलों में शिक्षा का स्तर कैसा है?

जिले का शिक्षा विभाग सोया हुआ है.

मंडल महामंत्री टिकेंद्र साहू ने कहा कि ब्लॉक में शिक्षा व्यवस्था पूरी तरह से चरमराई हुई है, शिक्षकों की कमी और इस प्रकार के कृत्यों से शिक्षा विभाग कलंकित हो रहा है, जिला शिक्षा अधिकारी को कई बार इन सभी समस्याओं से अवगत करवाया जा चुका है लेकिन कार्यवाही के नाम पर भंडारी जैसे शिक्षकों का स्थानांतरण कर एक जगह की बुराई को दूसरी जगह भेज दिया जाता है।

इस संबंध में बीईओ जेएस भारद्वाज ने बताया कि पूर्व में भी आकस्मिक निरीक्षण के समय प्रधानपाठक अनुपस्थित पाए गए थे, और ग्रामीणों की शिकायत पर फूलचंद भंडारी को तीन दिवस में अपना स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने हेतु पत्र जारी किया गया है और अध्यापन कार्य प्रभावित ना हो इस हेतु तत्काल प्रभाव से रोहित कुमार साहू को प्राथमिक शाला जुनवानी में संलग्नीकरण का आदेश जारी कर दिया गया है।

Leave feedback about this

  • Rating
Choose Image